जड़ी बूटी दिवस पर गढ़वाल विश्वविद्यालय ने लगाए 200 औषधीय पौधे, मिश्रित वन में अब तक 5000 पौधे लगाए गए

medicinal herbs implantaion in hnb university

रैबार डेस्क: जड़ी बूटी दिवस के अवसर पर हेमवती नन्दन बहुगुणा गढ़वाल (केंद्रीय) विश्वविद्यालय में औषधीय पौधे लगाए गए। विश्वविद्यालय के प्रति कुलपति प्रो. आर. सी. भट्ट की उपस्थिति में यूनिवर्सिटी के (garhwal university implants 200 medicinal plants in mixed forest) अधिकारीयों, कर्मचारियों एवं विद्यार्थियों ने औषधीय गुणों वाले सैकडों पौधों का रोपण किया।

यूनिवर्सिटी द्वारा श्रीनगर बुगाड़ी रोड पर वर्षों से बंजर पड़ी भूमि को पर्यावरण संरक्षण की दृष्टि से मिश्रित वन के रूप में तैयार किये जाने के प्रथम फेज के प्रयास रंग लाने लगे हैं। पिछले ढाई वर्षों में उक्त यहां अलग अलग प्रजातियों के 5 हजार पौधों लगाए गए जिनमें से आधे से ज्यादा पौधे बिल्कुल स्वस्थ अवस्था मे हैं। इससे बंजर जमीन की तस्वीर और तकदीर संवरने लगी है।

इसी क्रम में जड़ी बूटी दिवस पर यहां हैप्रेक के सहयोग से सैकडों मेडिसनल प्लांट लगाये गए। प्रोफ़ेसर आरसी भट्ट के नेतृत्व में अर्जुन, अशोक, सहजन, क्वेरीयाल, बेल, जामुन, पीपल, आंवला, हेडा, बहेड़ा, टिमरू, रीठा, कुटज, आदि के 200 पौधे रोपे गए। इस तरह बंजर जमीन पर मिश्रित वन विकसित होने से भूमि अतिक्रमण की घटनाओं की रोकथाम हो सकेगी और सभी शहरवासियों को मिश्रित वन से शुद्ध आक्सीजन भी उपलब्ध होगी।

बृक्षरोपण कार्यक्रम में कुलसचिव, डा ए.के. खण्डूरी, वित्त अधिकारी, डॉ० ए० के० मोहन्ती, हैप्रेक के निदेशक प्रोफ़ेसर एम० सी० नौटियाल, प्रोफ़ेसर पी० प्रसाद, उन्नत भारत अभियान के कोऑर्डिनेटर प्रोफ़ेसर प्रभाकर बडोनी, प्रोफ़ेसर आर० के० मैखुरी, आईक्यूयेसी निदेशक, प्रोफ़ेसर आर० सी० सुंदरियाल, प्रोफ़ेसर अनिल नौटियाल, परीक्षा नियन्त्रक, प्रोफ़ेसर अरुण रावत, डॉ० आशुतोष गुप्त, डॉ० मुनेश कुमार, डॉ० सर्वेश उनियाल, उप कुलसचिव नियुक्ति, डॉ० संजय ध्यानी, डॉ० विजय लक्ष्मी, ए.डी.एस.डब्लू, डॉ० एस० सी० सती,  जनसम्पर्क अधिकारी आशुतोष बहुगुणा, एन.सी.सी. ऑफिसर डॉ. सुरेन्द्र सिंह विष्ट. डॉ. मुकुल पन्त, आदि के साथ छात्र छात्रायें, एवं हैप्रेक का स्टाफ उपस्थित रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed