2024-07-23

डेंगू जांच में गड़बड़ी से बाज नहीं आ रही रही निजी लैब्स, महिला के प्लेटलेट जानबूझकर कम बताए,CMO से की शिकायत

another pvt lab named in fake report of dengue diagnosis

रैबार डेस्क: तमाम दावों के बावजूद डेंगू की जांच के नाम पर प्राइवेट अस्पतालों और लैब्स की मनमानी नहीं रुक रही है। निजी लैब्स की मनमर्जी के चलते लोगों के साथ खिलवाड़ हो रहा है। देवभूमि डायलॉग ने कुछ दिन पहले निजी अस्पतालों में चल रहे पैसे ऐठने के कारनामें आपको बताये, लेकिन इसके बावजूद निजी पैथालोजी लैब प्लेटलेट्स और ब्लड की जांच में घोर लापरवाही बरत रहे हैं।

देहरादून में प्रियंका यादव नाम की एक महिला ने डेंगू टेस्ट के लिए अपना ब्लड सैंपल पथरीबाग क्षेत्र में स्थित DNA लैब्स में जांच के लिए दिया था। जांच रिपोर्ट मांगने गई लैब की तरफ से मरीज के परिजनों के साथ अभद्रता की गई, औऱ जब जबाव बना तो महज 15 मिनट में रिपोर्ट तैयार करके सौंप दी। इस रिपोर्ट में मरीज का हीमोग्लोबिन 6.6 ग्राम औऱ प्लेटलेट्स काउंट 57 हजार बताया गया है।

प्रियंका के लिए चिंता की बात ये है कि कुछ दिनों पहले ही उसकी डिलीवरी हुई थी, इस लिहाज से कम प्लेटलेट्स औऱ हीमोग्लोबिन खतरा बन सकता था। आनन फानन में परिजनों ने उसे सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। लेकिन जब यहां पर ब्लैड सैंपल की जांच हुई तो हीमोग्लोबिन 13.6 ग्राम और प्लेटलेट काउंट 1लाख 40 हज़ार पाया गया।

यानी निजी लैब ने एक बार फिर से जानबूझकर मरीज के प्लेटलेट् और हीमोग्लोबिन को कम दिखाया। प्रियंका के पति विपिन यादव ने लैब पर गंभीर लापरवाही का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा कि अगर प्रियंका को आनन फानन में ब्लड चढ़ाया जाता तो कई भी अनहोनी हो सकती थी। विपिन ने इसकी शिकायत पटेलनगर थाने में की है, साथ ही सीएमओ दफ्तर में भी शिकायत दर्ज कर डीएनए लैब पर कार्रवाई की मांग की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed