CM धामी ने चंपावत पहुंचकर फूंका चुनावी बिगुल, बाबा गोरखनाथ के दर्शन के बाद लगाई घोषणाओं की झड़ी

cm hints election campaign starting in champawat

रैबार डेस्क: कैलाश गहतोड़ी के सीट छोड़ते ही मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने चंपावत में सक्रियता बढ़ा दी है। (cm dhami offers prayers at baba gorakhnath dham in champawat) मुख्यमंत्री ने चंपावत के तल्लादेश क्षेत्र में विख्यात बाबा गुरु गोरखनाथ मंदिर के दर्शन किए। इसदौरान उन्होंने चंपावत क्षेत्र के लए ताबड़तोड़ घोषणाएं भी की।

मुख्यमंत्री करीब दो किलोमीटर के चढ़ाई चढ़ने के बाद गुरु गोरखनाथ धाम पहुंचे। यहां उन्होंने मंदिर में पूजा अर्चना एवं मंदिर की परिक्रमा कर जनपद एवं राज्य की सुख समृद्धि की कामना की। इसके बाद मुख्यमंत्री ने एक जनसभा को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने विधायकी छोड़ने वाले कैलाश गहतोड़ी का आभार व्यक्त किया तथा तल्ला देश की जनता को धन्यवाद दिया। सीएम धामी ने कहा कि उनकी सरकार विकल्प रहित संकल्प के मंत्र पर राज्य का विकास करने को प्रतिबद्ध है। राज्य के विकास के लिए एक विजन प्लान के तहत कार्य किया जाएगा।

सीएम ने कहा कि कुमाऊं अंचल के प्रमुख सत्रह धामों के लिए एक खास कॉरिडोर बनाया जाएगा जिसमे गुरु गोरख धाम भी शामिल है। जिससे सभी प्रमुख धामों का विकास एवं पर्यटन की दृष्टि से क्षेत्र का विकास हो सके। भगवान गोल्ज्यू के तीनो प्रमुख धाम यथा चंपावत, अल्मोड़ा एवं घोड़ाखाल के लिए भी एक खास कॉरिडोर का निर्माण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जनपद चंपावत को विश्व मानचित्र पर प्रसिद्ध करने के लिए पर्यटन के क्षेत्र में विशेष कार्य योजना के तहत कार्य कर यहां पर्यटन की संभावनाओं को उभारा जाएगा।

इस दौरान विधायकी छोड़ने वाले कैलाश गहतोड़ी ने कहा कि मुख्यमंत्री के चंपावत से चुनाव लडने के फैसले ने उन्हें एवं जनपद की जनता को बहुत बड़ा उपहार दिया है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री के यहां से चुनाव लड़ने एवं यहां से जीतने के बाद यहां का चहुंमुखी विकास हो सकेगा ।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने जनपद के विकास के लिए कई घोषणाएं भी की।

1. चंपावत में ए आर टी ओ कार्यालय को खोला जाएगा।

2. बनबसा में मिनी स्टेडियम का निर्माण किया जाएगा।

3. अमोडी में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोला जाएगा।

4. मंच उपतहसील में जल्द ही कार्य प्रारंभ किए जाएंगे।

5. टनकपुर इंजीनियरिंग कॉलेज को आईआईआईटी (triple आईटी) बनाने का प्रस्ताव केंद्र सरकार को भेजा जाएगा।

6. चंपावत को अखिल भारतीय स्तर पर पर्यटन मानचित्र में लाने के लिए पर्यटन विभाग विशेष कार्ययोजना तैयार करेगा।

7. मां पूर्णागिरी मंदिर क्षेत्र व देवीधुरा मंदिर क्षेत्र का विकास प्राथमिकता के आधार पर किया जाएगा।

8. चंपावत गोल्जू देवता, घोड़ाखाल गोल्जू देवता व चितई गोल्जू देवता को मिलाकर एक विशेष गोल्जू कोरिडोर बनाया जाएगा।

9. चंपावत के चाय बागान से हिंगला देवी तक रोपवे मार्ग बनाने के लिए शीघ्र ही संबंधित विभाग को निर्देशित किया जाएगा।

10.  ककराली गेट-ठुली गाड़-भराव मंदिर मोटर मार्ग, सुखीधांग- डांडामीनार- रीठा साहिब मार्ग, सुखीढांग से श्यामलाताल मोटर मार्गों मार्गों को राज्य मार्गों में परिवर्तित किया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed