मुख्यमंत्री त्वरित समाधान टीम ने कफोलस्यूं थापली में सुनी जन शिकायतें, दर्जनभर विभागों को भेजी समस्याएं

पौड़ी गढ़वाल: जिले के कल्जीखाल ब्लॉक में ग्राम पंचायत थापली में मुख्यमंत्री त्वरित समाधान टीम ( CM Quick Response Team) द्वारा दर्जनभर विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक आयोजित की गई।क्विक रिस्पॉन्स टीम द्वारा ग्रामीणों की समस्याओं व शिकायतों को सुना गया व उनके उचित समाधान के निर्देश सम्बंधित विभागों जो दिये गए। हालांकि बैठक में प्रधानमन्त्री ग्राम सड़क योजना से सम्बंधित अधिकारी नहीं पहुंचे, जिससे सम्बंधित शिकायतों का निस्तारण न होने पर लोगों में मायूसी भी दिखी।

ग्राम प्रधान सरोज कुमार की अध्यक्षता में पंचायत चौक लमें आयोजित बैठक में ग्राम्य विकास, पंचायती राज, समाज कल्याण, जल निगम, जल संस्थान, लोक निर्माण विभाग, कृषि विभाग, उद्यान विभाग, लघु सिंचाई, विद्युत विभाग, स्वजल, एकीकृत आजीविका सहायता परियोजना (ILSP) आदि विभागों के जिला स्तरीय एवं ब्लॉक स्तरीय अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित रहे।

इस अवसर पर खंड विकास अधिकारी कल्जीखाल द्वारा बैठक के उद्देश्यों के बारे में बताया गया। साथ ही विभागीय योजनाओं की जानकारी ग्रामीणों को दी गई। ग्रामीणों द्वारा विभागीय अधिकारीयों को निम्नलिखित मूल समस्याओं से अवगत कराया गया।

इन समस्याओं के बारे में अवगत कराया

आम की डाली से थापली गाँव तक की सड़क खस्ताहाल है। इसकी मरम्मत हेतु विभागीय अधिकारी को अवगत कराया गया।

बिजली विभाग को गाँव तथा प्राथमिक विद्यालय में खंबे लगाने हेतु अवगत कराया गया।
जल निगम पौड़ी गढ़वाल द्वारा गाँव में हर घर जल, हर घर नल “जल जीवन मिशन” के तहत कार्य कराया जा रहा है, परन्तु पाइप लाइन की गुणवत्ता ठीक नहीं है, पाइप खेतों के ऊपर खुले पड़े हैं, ठीक से दबाये नहीं गए हैं।

मनरेगा अंतर्गत नए कार्ड बनाए गए, प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत लाभार्थियों को अवगत कराया गया। तथा त्वरित शिकायतों का समाधान मौके पर ही किया गया।

सभी शिकायतें संबंधित विभागों को अधिकारियों द्वारा भेज दी गई। हालांकि PMGSY का कोई अधिकारी न आने से लोगों में मायूसी दिखी। आम डाली से थापली होकर धारकोट तक जो मोटर मार्ग गुजरता है वो PMGSY के तहत आता है। लेकिन इस सड़क का डामर जगह जगह उखड़ा है, सड़क पर गहरे गड्ढे बने हैं जो खतरे से खाली नहीं है।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने निर्देशों से जनसमस्याओं के त्वरित सुनवाई व उचित निस्तारण जे लिए मुख्यमंत्री त्वरित समाधान टीम गठित की गई गया। सीएम त्रिवेंद्र की सोच है कि सरकार खुद जनता के द्वार तक पहुंचे। इसी के तहत QRT जिलों के तमाम अधिकारियों को लेकर जनता के बीच जा रही है। एक महीने के भीतर यह टीम 10 जिलों का भ्रमण कर चुकी है। शिकायतों की त्वरित सुनवाई और समाधान से QRT के प्रति लोगों में उत्साह देखा जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed