no vip darshan in kedarnath itbp deployed for crowd management

रैबार डेस्क:  चारधाम यात्रा पर श्रद्धालुओं की बढ़ती भीड़ और स्वास्थ्य कारणों से यात्रियों की मौत पर सरकार सकते में है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने चारों धामों में वीआईपी और वीवीआईपी दर्शनों पर रोक लगाने का फैसला लिया है। (No VIP Darshan In Kedarnath, ITBP personal deployed to crowd management) इसके बाद प्रशासन ने बैरिकेडिंग लगाकर केदारनाथ मंदिर का वीआइपी प्रवेश द्वार बंद किया है। इसके अलावा केदारनाथ धाम में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए आईटीबीपी के जवान तैनात कर दिए गए हैं।

चारधाम यात्रा पर इस बार रिकॉर्ड तादात में श्रद्धालु उमड़ रहे हैं। खासतौर से केदारनाथ धाम में रिकॉर्ड टूट रहे हैं। यमुनोत्री और केदारनाथ में स्वास्थ्य कारणों से 27 श्रद्धालुओँ की मौत हो चुकी है। बढ़ती भीड़ से यात्रा मार्गों पर बड़ी अनहोनी की आशंका पैदा हो गई है। हालात पर नजर रखते हुए सरकार सख्ती के मोड में आ गई है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने केदारनाथ समेत चारों धामों में वीआईपी और वीवीआईपी दर्शनों पर रोक लगा दी है। प्रशासन ने बैरिकेडिंग लगाकर केदारनाथ मंदिर का वीआइपी प्रवेश द्वार बंद किया है।अब हेली सेवा से आने वाले श्रद्धालु भी सामान्य लाइन में खड़े होकर दर्शन करेंगे। लाइन में खड़े श्रद्धालुओं को हर हाल में दो घंटे के भीतर दर्शन कराने होंगे।CM पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि बड़े से बड़ा शख्स भी होगा तो उनको अब आम श्रद्धालु बन के ही दर्शन करने होंगे।

केदारनाथ में आईटीबीपी तैनात

बाबा केदार के दर्शनों को इस बार श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ रहा है। इससे व्यवस्थाएं बनाने में प्रशासन के पसीने छूट रहे हैं। अब तक सवा लाख से अधिक श्रद्धालु बाबा के दर्शन कर चुके हैं। इससे दर्शनों के दौरान धक्का-मुक्का से भारी अव्यवस्था फैल रही है। मंदिर परिसर में व्यवस्थाएं बनाने और श्रद्धालुओं की मदद के लिए आईटीबीपी व पीआरडी  के जवान, तैनात कर दिए गए हैं। इसके अलावा ठंड से बचाव के लिए एक हजार से अधिक कंबल केदारनाथ भेजे गए हैं। यह उन श्रद्धालुओं को दिए जा रहे हैं, जो बिना गर्म कपड़ों के दर्शनों को पहुंच रहे हैं। जवान श्रद्धालुओं को पंक्तिबद्ध करने और भीड़ नियंत्रित करने में जुटे हैं। आईटीबीपी ने किसी भी संभावित स्थिति से निपटने के लिए अपनी डिजास्टर रिस्पॉन्स टीम और ऑक्सीजन सिलेंडर युक्त मेडिकल टीमों को भी अलर्ट पर रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed