घसियारी योजना के तहत घर घर पहुंचेगी घास की गठरी, त्रिवेंद्र कैबिनेट की बैठक में लगी मुहर, पढ़िए और भी फैसले

mukhyamantri ghasiyari yojana

रैबार डेस्क:   उत्तराखंड के पर्वतीय क्षेत्रों में अब घर घर तक पशुओं का चारा पहुंचाया जाएगा। इसके लिए मुख्यमंत्री घसियारी योजना (Mukhyamantri Ghasiyari Yojana)  को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। आज हुई त्रिवेंद्र कैबिनेट (Trivendra Cabinet) में सात प्रस्ताव रखे गए थे, जिनमे से सभी पर सहमति बनी है। बैठक में जल जीवन मिशन कार्यक्रम में जेई के पदों के सृजन और कुंभ के दौरान अस्पताल निर्माण को बी मंजूरी मिली है।

ये रहे कैबिनेट  के फैसले

मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना

1. मुख्यमंत्री घसियारी कल्याण योजना को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी है। इस योजना के तहत अब पर्वतीय क्षेत्रों में पशुओं का टोटल मिक्स्ड चारा घर घर तक पहुंचाया जाएगा। सरकार की कोशिश है कि घास लेने जंगल जाते वक्त कई महिलाओं को दुर्घटनाओं तथा जंगली जानवरों का शिकार होना पड़ता है, जिसमें कमी लाने के लिए यह कदम उठाया गया है। इस योजना के तहत शुरुआती चरण में एक लाख से ज्यादा लाभार्थियों को रियायती दरों पर पशुओं का चारा उपलब्ध कराया जाएगा।

2- जल जीवन मिशन कार्यक्रम के संरचनात्मक ढांचे में अपर परियोजना निदेशक एवं अधीक्षण अभियंता के दो पदों को मंजूरी

3- महाकुंभ के मद्देनजर 600 बेड का अस्पताल बनेगा, इसमें 50 आईसीयू बेड भी होंगे।

4- पुलिस दूरसंचार सेवा नियमावली में प्रमोशन को लेकर संशोधन किया गया है। अब 2 साल की जगह 10 साल के बाद प्रमोशन होगा।

5- संस्कृत विद्यालयों में कार्यरत ऐसे 57 शिक्षकों को जो विद्यालय में सृजित पदों के सापेक्ष कार्यरत नहीं थे, लेकिन पाठ्यक्रम में निर्धारित विषयों को पढ़ा रहे थे. ऐसे शिक्षकों को भी 155 शिक्षकों की तरह बढ़ा हुआ वेतन मिलेगा।

6- वन भूमि पर दी गई लीज के वार्षिक लीज रेंट के निर्धारण में बदलाव किया गया है।

7- उत्तराखंड राज्य कृषि उपज और पशुधन विपणन प्रोत्साहन एवं सुविधा अधिनियम में संशोधन हुआ है। मंडी अध्यक्ष का पद नॉमिनेट करने के लिए संशोधन किया गया. अब एक बार के लिए सरकार मंडी अध्यक्ष को नामित कर सकेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed