2023-02-01

देहरादून से गैरसैंण तक राज्य स्थापना दिवस की धूम, सीएम धामी ने कहा, स्कूलों में पढ़ाया जाएगा राज्य आंदोलन का इतिहास

cm dhami on rajya sthapna diwas

रैबार डेस्क:  उत्तराखंड राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर देहरादून, व गैरसैंण में कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने देहरादून के बाद गैरसैंण के कार्यक्रम में भी शिरकत की। इस दौरान सीएम धामी ने राज्य के लिए 21 घोषणाएं की।साथ ही वर्ष 2021 व 2022 के लिए उत्तराखंड गौरव सम्मान भी प्रदान किए गए। (cm dhami in dehradun and gairsain during uttarakhand foundation day )

मुख्य कार्यक्रम पुलिस लाइन में आयोजित हुआ। जिसमें राज्यपाल ले. ज. गुरमीत सिंह, सीए धामी ने परेड की सलामी ली। इस दौरान सीएम ने उत्तराखण्ड गौरव सम्मान पुरस्कार-2022 एवं उत्तराखण्ड गौरव सम्मान पुरस्कार-2021 के महानुभावों को सम्मानित भी किया। उत्तराखण्ड गौरव सम्मान 2022 से भारत के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार श्री अजीत डोभाल, कवि लेखक, गीतकार एवं सेंसर बोर्ड के अध्यक्ष श्री प्रसून जोशी, भूतपूर्व चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ स्व. जनरल विपिन रावत, कवि लेखक एवं गीताकार स्वं गिरीश चन्द्र तिवारी ‘गिर्दा’, साहित्यकार एवं पत्रकार स्व. श्री वीरेन डंगवाल को सम्मानित किया गया। जबकि 2021 के उत्तराखण्ड गौरव सम्मान से उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री स्व. श्री नारायण दत्त तिवारी, पर्यावरणविद् डॉ. अनिल प्रकाश जोशी, साहित्यकार श्री रस्किन बॉण्ड, साहसिक खेल के क्षेत्र में श्रीमती बछेन्द्री पाल तथा संस्कृति एवं लोक कला के क्षेत्र में श्री नरेन्द्र सिंह नेगी को सम्मानित किया गया। श्री प्रसून जोशी एवं श्री नरेन्द्र सिंह नेगी कार्यक्रम के दौरान सम्मानित किये गये। उत्तराखण्ड गौरव सम्मान के अन्य महानुभावों के परिवारजनों द्वारा सम्मान लिया गया।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर 12 घोषणाएं की।

* राज्य के सकल घरेलू उत्पाद को वर्ष 2027 तक दोगुना किया जाएगा।

*प्रदेश में ऊर्जा उत्पादन को बढ़ाने हेतु और निवेशकों को आकर्षित करने हेतु तीन माह के भीतर सरलीकृत लघु जल विद्युत नीति और सौर ऊर्जा नीति बनायी जाएगी।

* रूपांतरण कार्यक्रम के तहत प्रति वर्ष दो सौ विद्यालयों को रूपांतरित किया जाएगा तथा अगले पाँच वर्षों में एक हज़ार विद्यालयों को सुदृढ़ किया जाएगा।

* सभी जिलों में बालिका आवासीय विद्यालय खोले जाएंगे।

*जम्मू-कश्मीर एवं हिमांचल प्रदेश की तर्ज़ पर उत्तराखंड में भी कम मूल्य वाली फसलों के स्थान पर उच्च मूल्य वाली फसलों को बढ़ावा दिया जाएगा

*पर्यटन के क्षेत्र में निवेश को को आकर्षित करने के लिए नई पर्यटन नीति तीन माह के भीतर बनायी जाएगी।*

*राज्य में पशु पालकों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जाएगा। इसके लिए राज्य पशु धन मिशन की शुरुआत की जाएगी।

*प्रदेश में आगामी पाँच वर्षों में दस हज़ार महिला तथा महिला समूहों को उद्यमी बनाने का लक्ष्य हमने तय किया है।

*प्रदेश की महिलाओं की सुरक्षा और सशक्तिकरण के लिए ’गौरा शक्ति’ एप शीघ्र लांच किया जायेगा।

* ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों के महिला स्वयं सहायता समूहों के उत्पादों के लिए ऑनलाइन मार्केटिंग प्लेटफार्म शीघ्र उपलब्ध कराया जाएगा।

*प्रदेश की क़ानून व्यवस्था को चुस्त करने के लिए इनामी बदमाशों को पकड़वाने वाले लोगों को पुरस्कृत किया जाएगा। इस हेतु पुलिस विभाग के अंतर्गत एक करोड़ रूपए का कोष गठित किया जाएगा।*

* उत्तराखंड के आंदोलन का इतिहास तथा लोक संस्कृति के विभिन्न आयामों को हमारी पाठ्य पुस्तकों में शामिल किया जाएगा

* तहसील स्तर तक की समस्याओं के समाधान के लिए ’’मुख्यमंत्री चौपाल’’ कार्यक्रम आरंभ किया जाएगा।

भराड़ीसैंण में मुख्यमंत्री धामी

मुख्‍यमंत्री पुष्‍कर सिंह धामी चमोली ग्रीष्‍मकालीन राजधानी गैंरसैंण पहुंचे। स्थापना दिवस पर भराड़ीसैंण में आयोजित कार्यक्रम में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भाग लिया। इस दौरान उन्‍होंने विभिन्न विकास योजनाओं का लोकार्पण एवं लाभार्थियों को चेक वितरित किए, इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ऋतु भूषण खंडूड़ी, स्थानीय विधायक अनिल नौटियाल, रुद्रप्रयाग विधायक भरत चौधरी आदि उपस्थित रहे। इस कार्यक्रम में शामिल होने से पहले मुख्यमंत्री कलेक्ट्रेट परिसर स्थित शहीद स्मारक पहुंचे और राज्य निर्माण के लिए बलिदान देने वालों को श्रद्धांजलि अर्पित की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed